Sant Shri
  Asharamji Ashram

     Official Website
 

Register

 

Login

Follow Us At      
40+ Years, Over 425 Ashrams, more than 1400 Samitis and 17000+ Balsanskars, 50+ Gurukuls. Millions of Sadhaks and Followers.
Recent Articles
5 Apr 15 I am now moving to bring out jail on bail Sri Asaram Bapu because the rape case is bogus. TDK responsible for arrest. - Subramanian Swamy
I am now moving to bring out jail on bail Sri Asaram Bapu because the rape case is bogus. TDK resp..... Read more..
4 Apr 15 दरकिनार हुआ समानता का सिद्धांत
क्या भारत में न्याय के लिए राजनेता या अभिनेता होना ही अनिवार्य हैं ? .. Read more..
4 Apr 15 यह कैसा है जादू समझ में ना आया
 यह कैसा है जादू समझ में ना आया .. Read more..
24 Mar 15 आज भी नहीं हो पायी संत आशारामजी बापू के भानजे की अंत्येष्टि
आज भी नहीं हो पायी संत आशारामजी बापू के भानजे की अंत्येष्टि शंकर भाई की अंतिम इच्छा के लिए हो रह..... Read more..
“Sarkar aur Police” ko “Ashram aur Sadhakon” ke khilaf bhidane ki Ghinoni Saazish

आज दिनांक 26-11-09 को संदेश अखबार द्वारा संत आसारामजी बापू के विरुध्द किये जा रहे अश्लील कुप्रचार के विरोध में हजारों लोगों द्वारा गाँधीनगर में निकाली गई प्रतिवाद रैली में शामिल महिलाओं तथा पुरुषों पर पुलिस द्वारा बर्बरतापूर्वक लाठीचार्ज किया गया । जिसमें सकेड़ों लोग बुरी तरह घायल हुए ।



प्रतिवाद रैली जैसे ही कलेक्टर कचेरी पहुँची वहाँ पुलिस ने उन्हें रोका । कुछ लोग कलेक्टर साहब को ज्ञापन देने के लिए उनके ऑफिस में गए । लोगों की भारी भीड़ मेनगेट के पास ही बैठ गई थी । जिसे पुलिस ने बल प्रयोग कर पीछे खदेड़ना चाहा । इसी बीच कुप्रचारकों के सुनियोजित षड्यंत्र के तहत कुछ असामाजिक तत्त्व साधकों जैसे सफेद कपड़े पहनकर भीड़ में घुस गए और उन लोगों ने पुलिस पर पथराव करना शुरु कर दिया, जिससे क्रुध्द होकर पुलिस ने साधक भक्तों को जिनमें अनेकों महिलायें भी थी, जमकर लाठियों से पीटना शुरु कर दिया, जिसमें सकेड़ों लोग बुरी तरह से घायल हुए । बहुत से लोगों के हाथ-पैर में फ्रैक्चर भी हो गया । पुलिस आतंक का यह आलम था कि शांतिपूर्ण ढंग से वापस लौट रहे बहुत से निरपराध लोगों को पुलिस ने लाठियों से पीट कर घसीटते हुए पुलिस की गाड़ियों में डालकर थाने में बंद कर दिया ।

‘संदेश’ के लोगों द्वारा आसारामजी बापू तथा उनके साधकों को बदनाम करने के लिए अत्यंत सुनियोजित ढंग से यह सारा षड्यंत्र रचा गया था । वे संदेश के विरुध्द हो रहे जन आंदोलन का रुख मोड़ने के लिए साधकों को पुलिस के खिलाफ भिड़ाना चाहते थे अतः अपने कुछ लोगों को भीड़ में घुसाकर उपद्रव मचाकर इसे पुलिस बनाम आश्रम का रूप दे दिया । 4 किमी. लम्बी यात्रा रैली ने शांतिपूर्वक ढंग से पूरी की । साधकों भक्तों का अशांति फैलाने का कोई विचार ही न था । किन्तु पुलिस ने इस ओर जरा भी विचार किये बिना जिस बर्बरतापूर्वक ढंग से लाठी चार्ज किया वह अत्यंत शर्मनाक है ।
  Comments

New Comment
Created by sharanappa in 1/2/2010 7:51:41 AMjindgime ik pal aisa hota jisame duniyako prakasha denevaie surya ko hi grahan lag jata hai,o to thodihi samayke liy, phir badame apneap chhutjata hai.
New Comment
Created by satish in 12/8/2009 11:06:58 AMpolice wale marenge kutte ki maut....
New Comment
Created by SURESH SHARMA in 12/7/2009 9:47:25 PM BHAGWAN INKI ISKI PURI SAZA DEGA
antim feshla karnewala kabhi nahi marta.
Created by n.s.rawat in 11/29/2009 11:35:45 PMparam pujniya gurudeva evam sadhako abhi antim feshla karne walla mara nahi hai or na marega dekhte jana ab vaha jurm dhane walo ko kesa tandav dikhayega. om hrim om

Your Name
Email
Website
Title
Comment
CAPTCHA image
Enter the code
  
Copyright © Shri Yoga Vedanta Ashram. All rights reserved. The Official website of Param Pujya Bapuji