Sant Shri
  Asharamji Ashram

     Official Website
 

Register

 

Login

Follow Us At      
40+ Years, Over 425 Ashrams, more than 1400 Samitis and 17000+ Balsanskars, 50+ Gurukuls. Millions of Sadhaks and Followers.

Devine Experiences (Anubhavs)

Get Flash to see this player.

Click here to share your Anubhav

Read Anubhavs
सदगुरुदेव की कृपासे मुझे नया जन्म मिला, मौत हार गई

पूज्य सदगुरुदेव संत श्री आसारामजी बापुजी
के चरणों में कोटि कोटि नमन 
                                                
                                   २४ दिसंबर १९९५ को औरंगाबाद में गुरुदेव का सत्संग था अयोध्या  नगरी औरंगाबाद महाराष्ट्र में
सौभाग्य से दर्शन का लाभ मिला और जिंदगी पलट गई  मौत भी हार गई ..
मुझे १९९५ में अप्लास्टिक अनेमिया हो गया था जैसे थलेसेमिया का ट्रीटमेंट है कुछ उसितारहा का ट्रीटमेंट लेना होता है
जानलेवा बीमारी है
उस वक्त मुझे १९९५ में आठ लाख का खर्च आया था और मै ट्रीटमेंट लेकर ६ महीने हॉस्पिटल में रहकर आया था
और ट्रायल पिरेड में था अगर १ महीने में अगर प्रोग्रेस न दिखे तो बोनम्यारो ट्रांस प्लांट का खतरा था खर्च और आठ लाख
और गारंटी २५ % थी बचने की, १९ ब्लड दी जा चुके थे  उस वार्ड में मेरे ही तरह के ८ पेशंट थे उसमेसे ५ तो चल बसे
हॉस्पिटल से ही मै और जोधपुर की एक लड़की ही हॉस्पिटल से ट्रायल पर बहार आ सके थे
जब गुरूजी का पहला ही सत्संग समारोह औरंगाबाद में था और मुझे भीड़ में निकल ने की मनाही थी हर वक्त मास्क लगा होता था
मैंने बहुत जिद की, मुझे सत्संग जाना है घरवाले मना कर रहे थे कि इन्फेक्शन हो जायेगा भीड़ में नहीं जाना है, पर मेरे जिद के आगे
किसी की नहीं चली और हम सत्संग गए और सुबह शाम का दोनों सत्र सुनने के बाद शामको बेगमपुरा अश्रम में गए बापुजी संध्या के बाद
आये | जहां दर्शन की व्यवस्था थी हम  वहीं बैठे थे मैंने मास्क पहना था
बापुजी आये और आते ही मेरे तरफ देख बापुजी ने इशारा में  कहा क्या लगाया है निकालो मास्क तो मैंने निकाला बापुजी ने पूछा क्यों लगाते हो
मैंने अपनी बीमारी और इलाज के बारे मे कहा तो बापुजी मुस्कुराये और कहा सब ठीक होगा चिंता नहीं करना और प्रसाद दिया, फिर बापुजी औरो से बाते करते
रहे फिर दर्शन की लाइन बनी मैं सामने ही था तो पहला मै ही था बापुजी ने पूछा सरदार कैसे हो क्यों आये  हो तो मैंने कहो गुरूजी गुरुमंत्र लेना है तो बापुजी ने कहा
मंत्र बताया और कहा जप करते रहना खूब पानी पीना तुलसी के पत्ते पांच चबाना सब दुःख मेरी झोली में डालदो, जा सब ठीक होगा चिंता नहीं करना प्रसाद दिया
३ दिन हम सत्संग आश्रमे दर्शन जाते रहे रोज प्रसाद आशीर्वाद मिलता रहा आखरी दिन २६ दिसंबर १९९५ को दीक्षा हुई मैंने  दीक्षा ली वहा भी सामने बैठा था
बापूजी वहा भी मेरे सामने आये इशारे से बहुत बढ़िया कहा
और मै जब चेकअप को गया वेल्लोर , सी ऍम सी हॉस्पिटल  मद्रास गया  तो डॉक्टर  चेकअप कर के बड़े ख़ुशी से कहा चमत्कार है रिपोर्ट एक दम ठीक आई है
दवाई एक दम से आधी कर दी और १ महीने बाद फिर बुलाया तब करीब करीब दवाई बंद करदी सिर्फ १ गोली ही शुरू थी| मई में शिबिर  भरने सूरत आश्रम गया
वहा भी बापुजी के दर्शन का लाभ मिला मैंने दवाई बंद हो गई यह बात बापुजी से कही  तो बापुजी ने वहा कहा औरंगाबाद तो २ ,३ काम थे उसमे से एक काम यह भी था इसे बचाना था
फिर मैंने बहुत से शिबिर, पूनम दर्शन किये | जहा भी जाता गुरूजी से बात होती प्रसाद मिलता सरदार औरंगाबाद जिंदाबाद कहकर गुरूजी सामने से बुलाते  ६ माह के अन्दर सभी दवाई बंद हो गई और डॉ ने फिर से चेकअप के लिया आने से भी मना कर दिया  और कहा नार्मल जिंदगी जियो |
मेरे साथ के या तो उस बीमारी वाले पेशंट की दवाई अभी तक चालू है किसी-किसी को ट्रांसप्लांट भी करना पड़ा पर गुरुदेव की कृपा दुष्टि से बच गया | उसके बाद शादी बच्चे हुये अभी मैं पूर्ण स्वस्थ हूँ  ...और भी पल-पल अनुभव होते है , हमारा पूरा परिवार पूज्य श्री से दिक्षित है .हमारा सौभाग्य पूज्य श्री हमारे निवास औरंगाबाद में आकर हमें कृतार्थ किया ..पूज्य श्री के साथ वाले शिष्य हमारे यहाँ आये और बापूजी से  मना किया की घर ३ रे मंजिल पर है और ५५ सीड़ियाँ हैं, आप मना करदें , तो पूज्य श्री ने कहा नहीं दूसरी २ जगह कैंसल कर दो पर हम सरदार के घर जरुर जायेगगें |जब गुरुदेव घर आये तो सपना लग रहा था जो हम कभी भुला न पायेगें  ....................
यह तो ऐसा फल है जो चखता है उसे ही स्वाद का पता चलता है 
तब से ही साहित्य सेवा, ऋषिप्रसाद सेवा,  गौसेवा, निरंतर चालू है गुरुदेव से प्रार्थना है हम पर सदा ही आशीर्वाद बनाये रखें   मुझ पर जैसी कृपा की है  सब पर करें |
हरिओम नारायण नारायण नारायण नारायण ............... जय  संत श्री आसारामजी बापू  जय गौमाता मेरे प्यारे गुरुदेव की सदा ही जय हो

रविंदरसिंह कुलवंतसिंह सेठी
सेठी पेट्रोल पंप 
पो ता  मेहकर जी  बुलढाना  महाराष्ट्र पिन
४४३३०१ मोब ९४०३४५८८८८ ९४२३४५८८८८,९४०३०५८८८८
ravindersinghsethi.8888@gmai.com
OFF: सेठी ब्रदर्स  HP  पेट्रोल पंप ता . मेह्कर जी , बुलढाना 
RESI :२५ / C २  PRINCE TON TOWN नियर कल्याणी वेज ;
GOALDADDLAB कल्याणी नगर पुणे 
 

 

 



View Details: 2616
Anubhav Videos
Copyright © Shri Yoga Vedanta Ashram. All rights reserved. The Official website of Param Pujya Bapuji